Sunday, October 20, 2013

बाल हिंसा पर मोहनलाल सुखाडिया विवि और लोक संवाद संस्थान की मीडिया कार्यशाला में हुआ मंथन

वरिष्‍ठ पत्रकार राजेन्‍द्र बोड़ा ने कहा कि सनसनीखेज पत्रकारिता के दौर में पत्रकारों को संवेदनाओं से जुड़ी खबरों को और अधिक जिम्‍मेदारी से समझना होगा। तभी संवेदनशील पत्रकारिता स्‍थापित हो पाएगी। बोड़ा 18 अक्टूबर को उदयपुर के नेहरु हॉस्टल के तिलक सभागार में बच्‍चों के खिलाफ होने वाली हिंसा को सामने लाने में मीडिया की भूमिका और मीडियाकर्मियों के क्षमता संवद्धर्न के लिए आयोजित राज्‍यस्‍तरीय कार्यशाला को सम्‍बोधित कर रहे थे। यूनिसेफ के सहयोग से लोक संवाद संस्‍थान जयपुर तथा मोहन लाल सुखाडिया विश्‍वविद्यालय के पत्रकारिता विभाग के संयुक्‍त तत्‍वावधान में बच्‍चों के विरुद्ध हो ..........

- See more at: मीडिया मिर्ची


Media Mirchi

Loading...